Moral Stories in Hindi in Short – बेस्ट 6 नैतिक कहानियां

Moral Stories in Hindi in Short: दोस्तों आज के इस पोस्ट में 6 बेस्ट नैतिक कहानियों का संग्रह लेकर आये हैं, जिसे पढ़ने के बाद मुझे उम्मीद हैं, आपको जरूर पसंद आएगी। तो चलिए बिना समय गवाये शुरू करते हैं-

1. short story in hindi with moral – चतुर किसान

एक बार की बात हैं, एक किसान घास का एक गट्ठर, एक बकरी और एक शेर को लेकर घर जा रहा था। रास्ते में उसे नाव से नदी पार करना था, लेकिन नाव बहुत छोटी थी। वह सारे सामान समेत एक बार में नदी नही पार कर सकता था।

वह यदि शेर को पहले नदी पार कर आता है तो इधर बकरी घास खा जाएगी और अगर घास को पहले नदी पार ले जाता है तो शेर बकरी को खा जाएगा।

Moral stories in hindi in short

अंत मे उसे इस समस्या का समाधान मिल गया, उसने पहले बकरी को साथ में लिया और नाव में बैठकर नदी के उस पार छोड़ आया। इसके बाद दूसरे चक्कर में उसने शेर को नदी पार छोड़ दिया लेकिन लौटते समय बकरी को फिर से साथ ले आया।(यह भी पढ़ें – Moral Stories in Hindi Short – सुझ-बूझ, गुणों की पहचान , सुख-दुःख, फ़रिश्ते)

इस बार किसान बकरी को इसी पार छोड़कर घास के गट्ठर को दूसरी ओर शेर के पास छोड़ आया। इसके बाद वह फिर से नाव लेकर आया और बकरी को भी ले गया। इस प्रकार, उसने नदी पार कर ली और उसे कोई छति भी नहीं हुई।

2. Moral Stories in Hindi short – अलसी हिरन

एक दिन एक हिरनी अपने छोटे बेटे को लेकर एक बुद्धिमान हिरन के पास गई और उससे बोली – “मेरे बुद्धिमान भाई, कृपया मेरे बेटे को भी अपनी जान बचाने की कुछ तरकीबें सिखा दिजीये, ताकि वह कभी संकट में फँसे तो अपनी जान खुद बचा सके।”(यह भी पढ़ें- Inspirational Story In Hindi – ये कहानियां आपकी जिंदगी बदल सकता हैं।)

Moral stories in hindi in short

बुद्धिमान हिरन मान गया, छोटा हिरन बहुत शैतान था और उसका मन दूसरे बच्चों के साथ खेलने में ही लगा रहता था। वह कक्षा से गायब रहने लगा और उसने बचाव की कोई तरकीब नहीं सीखी।

एक दिन, खेलते-खेलते वह एक जाल में फँस गया। जब उसकी माँ को यह पता चला तो वह बहुत रोई बुद्धिमान हिरन उसके पास गया और उससे बोला, “प्यारी बहना, मुझे दुख है कि तुम्हारा बच्चा जाल में फँस गया। मैंने उसे सिखाने की बहुत कोशिश की थी, लेकिन वह कुछ सीखना ही नहीं चाहता था। अगर कोई शिष्य सीखना ही नहीं चाहे तो गुरु उसे कैसे सिखा सकता है।”

3. एकता में ही बल है- Short Story In Hindi

एक बार की बात है, कबूतरों का एक बड़ा सा झुंड था। अपने राजा कबूतर के साथ वह भोजन की तलाश में इधर-उधर उड़ता रहता था। एक दिन, वे सभी कबूतर भोजन के चक्कर में एक जाल में फँस गए। सभी कबूतर जाल से छूटने की बहुत कोशिश की लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली।(यह भी पढें – Motivational Story In Hindi – ये 5 कहानियाँ आपको सफल बना सकती है)

Moral stories in hindi in short

तभी कबूतरों के राजा के मन में एक विचार आया, उसने सारे कबूतरों से कहा कि अगर वे सभी एक साथ उड़ने के लिए बल लगाएँ तो वे जाल को साथ में लेकर उड़ सकते हैं। सारे कबूतरों ने उसकी बात मानी और पूरा ताकत लगाकर जाल को साथ ले उड़े।

शिकारी ने जब सभी कबूतरों को जाल के साथ उड़ते देखा तो वह हैरान रह गया। कबूतर उड़ते-उड़ते एक चूहे के पास पहुँचे। चूहा उनका बहुत विश्वसनीय मित्र था, चूहे ने तुरंत ही अपने दाँतों से जाल काट दिया और सारे कबूतर जाल से बाहर आ गए।

4. डॉल्फिन और नन्हीं मछली

Moral Stories in Hindi Short: एक बार समुन्द्र में डॉल्फिनों और व्हेलों के बीच युद्ध छिड़ गया, जब झगड़ा बहुत ज्यादा बढ़ गया तो एक नन्हीं सी मछली ने दोनों पक्षों में समझौता कराने की कोशिश की।

जबकि डॉल्फिनों ने नन्हीं मछली से कोई भी सहायता लेने से इन्कार कर दिया। आश्चर्यचकित होकर मछली ने इसका कारण जानना चाहा।

Moral stories in hindi in short

उसके इस बात पर एक डॉल्फिन चिल्लाकर बोली, “दूर रहो, हम तुम्हारी जैसी छोटी-सी मछली से सुलह करवाने के बजाय मर जाना पसंद करेंगे, तुम्हारी हमारे सामने क्या औकात !”

नन्हीं मछली को इस बात का बहुत बुरा लगा और वह वहाँ से चली गई । डॉल्फिनें लड़ती रहीं और सभी बहुत बुरी तरह से घायल हो गईं। एक-एक करके जब वे सभी मरने लगीं, तब भी उनके चेहरे से घमंड झलक रहा था।

घमंडी लोग किसी भी तरह की छति सह सकते हैं, लेकिन अपने से नीचे स्तर के लोगों से सहायता लेना पसंद नहीं करते।

5. शरारती बंदर-Moral Stories in Hindi

बोधिसत्व ने एक बार साधु के रूप में जन्म लिया, वह हर रोज साधु गाँव जाकर भिक्षा माँगता। जब साधु गाँव जाता तो एक शरारती बंदर उसकी कुटिया में घुस जाता और खाने-पीने का सारा सामान चटकर जाता, साथ ही सारा सामान अस्त-व्यस्त कर देता।

एक बार जब बंदर साधु की कुटिया में घुसा तो उसे खाने को वहाँ कुछ नहीं मिला, वह साधु को देखने गाँव तक चला गया। गाँव वाले पूजा करने के बाद साधु को प्रसाद दे रहे थे।

Moral stories in hindi  short

शरारती बंदर साधु के पास जाकर हाथ जोड़कर खड़ा हो गया। गाँव वालों को लगा कि यह बंदर तो ध्यान कर रहा है। वे उसकी भक्ति देखकर बहुत प्रसन्न हुए। तभी साधु ने बंदर को पहचान लिया।

साधु ने गाँव वालों को बता दिया कि यह वही बंदर है, जो मेरी कुटिया में घुसकर सारा सामान तोड़-फोड़ देता है और उसे परेशान करता है। क्रोधित गाँव वालों ने बंदर को खदेड़कर भगा दिया।

6. लोमड़ी और अंगूर

एक बार एक भूखी लोमड़ी जंगल में खाना के लिए इधर-उधर घूम रही थी। अचानक उसकी नजर पके और रसीले अंगूरों की बेल पर पड़ी। उसने मन में सोचा, “ये अंगूर तो बहुत ही स्वादिष्ट होने चाहिए, मैं इन्हें जरूर खाऊँगी। “

Short moral stories in hindi

अंगूर काफी ऊँचाई पर था, लोमड़ी ने छलांग लगाकर अंगूर तोड़ने की बहुत कोशिश की, लेकिन वह अंगूर तक नहीं पहुँच पाई। वह छलाँग लगा-लगाकर अंगूर तोड़ने की बहुत कोशिशे करती रही, लेकिन उसे सफलता नहीं मिली।

जब वह प्रयास कर-कर के थक गई तो लोमड़ी को समझ में आ गया कि अब और प्रयास करना बेकार है। वह अपने आप से बोली, “अरे! मुझे नहीं खाना हैं ये अंगूर, ये तो खट्टे हैं।”

दोस्तों लोमड़ी का यह व्यवहार प्रतीत होता है कि जब किसी को कोई चीज नहीं मिलती, तो वह उसमें कमियाँ निकालने लगता है।

Leave a comment