Motivational Story In Hindi – ये 5 कहानियाँ आपको सफल बना सकती है

Best motivational story in hindi, Motivational story in hindi for students, Inspirational story, मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी, Short motivational stories in hindi with moral,This is the best motivational story in hindi for success, Motivational story in Himdi for Success,
Best inspirational story in hindi for success.

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम आपके लिए 5 Best Motivational Story in Hindi लाये हैं, जिसे पढ़कर आपके लाइफ में काफी परिवर्तन आ जायेगा। सभी कहानी को One by One जरूर पढ़ें।

1. आत्मनिर्भर – Success Motivational Story in Hindi

Best Motivational Story In Hindi: दोस्तों एक राजा सर्दियों की शाम जब अपने महल में दाखिल हो रहा था तभी उसने एक बूढ़े दरबान को देखा जो महल के सदर दरवाज़े पर पुरानी और फटा वर्दी में पहरा दे रहा था।

राजा ने उसके करीब अपनी सवारी को रुकवाया और उस बूढ़े दरबान से पूछने लगा – क्या तमको सर्दी नही लग रही ?
दरबान ने जवाब दिया – जी महाराज, बोहत लग रही है! मगर क्या करूँ, मेरे पास गर्म वर्दी नही हैं, इसलिए मुझे बर्दाश्त करना पड़ता है।
राजा ने कहा – मैं अभी महल में जाकर अपना ही कोई गर्म जोड़ा तुम्हे भेजता देता हूँ।

दरबान ने खुश होकर राजा को फिर से सलाम किया और आजिज़ी का इज़हार किया। लेकिन राजा जैसे ही महल में दाखिल हुआ, दरबान के साथ किया हुआ वादा भूल गया। सुबह होते ही दरवाज़े पर उस बूढ़े दरबान की ठंड में अकड़ी हुई लाश मिली और पास में ही मिट्टी पर उसकी उंगलियों से लिखी गई ये तहरीर भी, उसने लिखा था “राजा सलामत! मैं कई सालों से इन सर्दियों में इसी नाज़ुक वर्दी में दरबानी कर रहा था, मगर कल रात आप के गर्म लिबास के वादे ने मेरी जान निकाल दी।”

दोस्तों किसी का सहारा इंसान को खोखला कर देता है और उम्मीदें कमज़ोर कर देती है।

दोस्तों अपनी ताकत के बल पर जीना शुरू कीजिए, खुद की सहन शक्ति, ख़ुद की ख़ूबी पर भरोसा करना सीखें।आपका आपसे अच्छा साथी इस दुनिया में कोई नही है।

दोस्त, गुरु, और हमदर्द कोई नही हो सकता।


2. हार गया लेकिन खुद से जीत गया – Hindi Motivational Story

Motivational story in hindi

दोस्तों नमस्कार, Blog Post में आप सभी का स्वागत है, आज मैं आपको एक ऐसी motivational stories in Hindi बता रहा हूँ, जिसे पढ़ने के बाद
आपकी Energy पहले जैसी नही रहेगी। तो चलिए
बिना आपका समय गवाये motivational story in Hindi को शुरू करते है।

दोस्तों रमेश नाम का एक लड़का था, उसको दौड़ने का बहुत शौक था। वह कई मैराथन दौड़ में हिस्सा ले चुका था, लेकिन वह किसी भी रेस को पुरा नही कर पाता था। एक दिन उसने ठान लिया कि चाहे कुछ भी हो जाये, वह जी जान से दौड़ेगा और रेस को जरूर पुरा करेगा।

फिर क्या था, रमेश रेस में हिस्सा लेने मैदान में पहुँचा। सभी धावक दौड़ने के लिए तैयार था रमेश भी तैयार था, फिर रेस शुरू हुआ।

सभी लोग दौड़ना शुरू किया , रमेश ने भी दौड़ना शुरू किया। धीरे-धीरे सारे धावक आगे निकल रहे थे, लेकिन रमेश अब थक गया था
वह रुक गया फिर उसने मन ही मन खुद से बोला, अगर मैं दौड़ नही सकता तो कम से कम चल तो सकता हूँ।
रमेश ऐसा ही किया वह मैदान में धीरे-धीरे चलने लगा, मगर वह आगे जरूर बढ़ रहा था। अब वह बहुत ज्यादा थक गया था और नीचे गिर पड़ा।

उसने फिर खुद को बोला, की वह कैसे भी करके आज दौड़ को पूरा जरूर करेगा। वह ज़िद करके फिर से उठा और लड़खड़ाते हुए आगे बढ़ने लगा, अंततः वह रेस पूरी कर गया।

दोस्तों माना कि रमेश रेस हार चुका था ,लेकिन आज उसका विश्वास चरम पर था क्योंकि आज से पहले
रेस को कभी पूरा ही नही कर पाया था।
भले ही वह जमीन पर गिरा पड़ा हुआ था क्योंकि उसके पैरों की मांसपेशियों में बहुत खिंचाव आ गया था।
लेकिन आज वह बहुत ही खुश था क्योंकि आज वह हार कर भी जीता था।

motivational story in hindi for success

दोस्तों हमलोग भी तो इस तरह की गलती करते है हमारी life में कभी भी अगर कोई परेशानी होती है या किसी चीज में एक बार असफल हो जाते हैं, तो उस काम को नही करते और छोड़ देते है। अगर आप एक student हो और रोज 10 घंटे की पढ़ाई करते हो और किसी दिन कोई Problem की वजह से आप पढ़ाई नही करते मगर आपको जिनता भी समय मिले, भले ही 1घंटे, 2 घंटे, 5 घंटे मिले, पढ़ना जरूर चाहिए। रमेश की कहानी से हमे यही सीखने को मिलता है कि अगर हम लगातार आगे बढ़ते रहे तो एक दिन हम हारकर भी जीत जाएंगे।

दोस्तों छोटे-छोटे कदम बढ़ाते जाओ और आगे बढ़ते जाओ, यही सफलता का नियम है।

3. ईमानदारी का फल best hindi motivation story
Motivational story in hindi

दोस्तों बहुत पुराने जमाने की बात है चितौड़गढ़ नाम का एक राज्य था वहाँ का राजा बहुत ही अच्छा और सुखी था। राजा को हर सुख रहने के वाबजुत केवल एक ही सुख नही था वो यह था कि उसको कोई संतान नही था। लेकिन राजा चाहता था कि राज्य की उत्तराधिकारी के लिए राज्य के अंदर ही किसी योग्य बच्चे को गोद ले लें।
ताकि वह उसके राज्य का उत्तराधिकारी बन सके और आगे की बागडोर को सुचारू रूप से चला सके
और इसी को देखते हुए राजा ने राज्य में घोषणा करवा दी की राज्य के सभी बच्चे राजमहल में एकत्रित हो जाये और ऐसा ही हुआ।

राजा ने एकत्रित हुए सभी बच्चो को पौधे लगाने के लिए भिन्न भिन्न प्रकार के बीज दिए और कहा कि अब हम 6 महीने बाद मिलेंगे और देखेंगे कि किसका पौधा सबसे अच्छा होता हैं।

छः महीना बीत जाने के बाद भी एक बच्चा ऐसा था जिसके गमले में वह बीज अभी तक नही फूटा था उसमे कोई पेड़ नही निकला था। लेकिन वह रोज उसकी देखभाल करता था और रोज पौधे को समय पर पानी देता था। 3 महीने बीत जाने के बाद भी जब पौधा नही निकला तो बच्चा परेशान हो गया।

तभी उसकी माँ ने कहा – बेटा धैर्य रखो कुछ बीजों को फलने में ज्यादा वक्त लगता है।
और वह बच्चा पौधे को सींचता रहा, समय बीत चुका था राजा के पास जाने का समय आ चुका था लेकिन वह डरा और सहमा हुआ था क्योंकि वह सोच रहा था कि सभी बच्चो के गमलो में तो पौधे होंगे और उसका गमला खाली होगा।लेकिन वह बच्चा ईमानदार था।

मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी

आखिर वो दिन आ गया जब सारे बच्चे राजमहल में पहुच चुके थे। कुछ बच्चे तो जोश से पूरा भरे हुए थे, क्योंकि उनके अंदर राज्य का उत्तराधिकारी बनने की प्रबल लालसा थी। अब राजा ने सभी बच्चों को अपना अपना गमला दिखाने का आदेश दिया, और सभी बच्चें एक एक कर अपना गमला दिखाने लगे।
लेकिन एक बच्चा सहमा हुआ था, क्योंकि उसका गमला खाली था उसमें कोई पौधा नही लगा हुआ था।
तभी राजा की नजर उस बच्चे की गमले पर पड़ी,
राजा साहब ने पूछा तुम्हारा गमला तो खाली है।
तो उस बच्चें ने कहा लेकिन मैंने इस गमले की 6 महीने तक देखभाल की है।

राजा उस बच्चें की ईमानदारी से खुश था, क्योंकि उसका गमला खाली था, फिर भी वह हिम्मत करके वह राजमहल तक पहुंचा।
सभी बच्चों के गमले देखने के बाद, राजा ने उस बच्चे को सभी के सामने बुलाया। बच्चा डरा-सहमा हुआ था।
फिर राजा ने उसके गमले को सभी को दिखाया,
सभी बच्चे उसपर जोर-जोर से हसने लगे।

राजा ने कहा – शांत हो जाइये। इतने खुश मत होइए, आप सभी को जो हमने बीज दिए थे वो सब बंजर था आप चाहे कितनी भी मेहनत कर ले उनसे कुछ नही निकलेगा। आप सब ने बीज बदल दिये, केवल यही बच्चा है जो अपनी ईमानदारी दिखाया।
राजा उसकी ईमानदारी से बेहद खुश हुआ और उस बच्चे को राज्य का उत्तराधिकारी बनाने का निणर्य ले लिया।

दोस्तों इस कहानी से हमे सिख मिलती है कि चाहे कुछ भी हो जाये हमे अपनी ईमानदारी बरकार रखनी चाहिए।

अगर हम खुद के साथ ईमानदार(Honest) है तो Life के किसी न किसी पड़ाव में सफल हो ही जाएंगे।

क्योंकि हमारी औकात हमे ही पता होती है ।

4. परिस्थितियों को दोष देना – Best Inspirational Story in hindi

मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी

यह motivational story ऐसी है, जिसको पढ़कर आपकी आंखें खुल सकती है।

एक समय की बात हैं, एक आदमी रेगिस्तान में फंस गया था, और वह मन ही मन बोल रहा था कि कितना सुंदर और अच्छा जगह हैं। काश यहां पर पानी होता तो कितने अच्छे-अच्छे पेड़-पौधे यहां पर उग रहे होते, और यहां पर न जाने कितने लोग घूमने आना चाहते।
मतलब वह प्रकृति को ब्लेम कर रहा था, कि यह होता तो वो होता और वो होता तो शायद ऐसा होता।

ऊपरवाला सब देख रहा था और सुन रहा था। थोड़ी देर बाद उस इंसान ने सोचा यहां पर पानी नहीं दिख रहा है।
जैसे ही वह कुछ दूर आगे बढ़ा, उसको एक कुआं दिखाई दिया जो कि पानी से लबालब भरा हुआ था।
वह खुद से काफी देर तक विचार-विमर्श करता रहा, फिर उसको वहां पर एक रस्सी और बाल्टी दिखाई दी। इसके बाद कहीं से एक पर्ची(कागज का टुकड़ा) उड़ कर उसके सामने आया जिसमें लिखा हुआ था कि तुमने कहा था कि
यहां पर पानी का कोई स्त्रोत नहीं है अब तुम्हारे पास पानी का स्रोत भी है। अगर तुम चाहो तो यहां पर पौधे लगा सकते हो। लेकिन उसने ऐसा नही किया वो वहां से चला गया।

यह कहानी(Motivational Story in Hindi) हमें यह सिखाती है कि अगर आप परिस्थितियों को दोष देना चाहते हो कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन आपको sources मिल जाये तो परिस्थिति को बदल सकते हो।

इस कहानी से तो यही लगता है कि हममें से कुछ लोग सिर्फ परिस्थिति को ही दोष देना जानते हैं।
अगर उनके पास उपयुक्त स्रोत(Source) हो तो वह परिस्थिति को नहीं बदल सकते।
सिर्फ वह ब्लेम करना जानते हैं लेकिन हमे ऐसा नहीं बनना चाहिये।

Inspirational Story in Hindi

दोस्तों इस कहानी से यह सीख मिलती है कि अगर आप चाहते हो कि परिस्थितियां बदले और अगर आपको उसके लिए उपयुक्त साधन(Source) मिल जाए तो आप अपना एक Percent योगदान तो दे ही सकते हैं। और मुझे पूरा भरोसा है कि अगर आपके साथ ऐसी कोई घटना घटित होती है। आप अपना योगदान जरूर देंगे।

5. मेंढकों की टोली | Group Of Frog

Best Motivational story for students

दोस्तों एक बार एक मेंढकों की टोली जंगल के रास्ते से कही जा रही थी। अचानक उनमें से दो मेंढक एक गहरे गड्ढे में गिर गये। जब बांकी मेंढकों ने देखा कि गढ्ढा बहुत गहरा है तो ऊपर खड़े बांकी सभी मेढक चिल्लाने लगे ‘तुम दोनों इस गढ्ढे से नहीं निकल सकते, गढ्ढा बहुत गहरा है, तुम दोनों इस गड्ढे से निकलने की उम्मीद छोड़ दो और यही रहो।

लेकिन वे दोनों मेढक गड्ढे से निकले के प्रयास में जुड़े हुए थे। इसलिए दोनों मेढकों ने शायद ऊपर खड़े मेंढकों की बात नहीं सुनी और गड्ढे से निकलने की लिए लगातार वो उछलते रहे। लेकिन वही बाहर खड़े मेंढक लगातार कहते रहे ‘ तुम दोनों बेकार में मेहनत कर रहे हो, तुम्हें हार मान लेनी चाहियें, तुम दोनों को हार मान लेनी चाहियें। तुम नहीं निकल सकते, प्रयास करना छोड़ दो।

इसी बीच गड्ढे में गिरे दो मेढकों में से एक मेंढक ने ऊपर खड़े मेंढकों की बात सुन ली, और वो उछलना छोड़ कर दिया और निराश होकर एक कोने में बैठ गया। लेकिन वही दूसरे मेंढक ने प्रयास जारी रखा, वो उछलता रहा जितना वो उछल सकता था, उछलता रहा।

बहार खड़े सभी मेंढक लगातार उसे हार मान लेने की बात कह रहे थे। पर वो मेंढक शायद उनकी बात नहीं सुन पा रहा था और उछलता रहा और काफी कोशिशों के बाद वो गड्ढा से बाहर आ गया। दूसरे मेंढकों ने कहा ‘क्या तुमने हमारी बात नहीं सुनी।

Motivational Story

उस मेंढक ने इशारा करके बताया की वो किसी की बात नहीं सुन सकता, क्योंकि वो बेहरा(Deaf) है वो सुन नहीं सकता। इसलिए वो किसी की भी बात नहीं सुन पाया, वो तो यह सोच रहा था कि सभी मेढक उसका उत्साह बढ़ा रहे हैं।

दोस्तों इस कहानी से सीख मिलती है कि – जब भी हम बोलते हैं, उनका प्रभाव लोगों पर जरूर पड़ता हैं, इसलिए हमेशा सकारात्मक बातें ही बोलना चाहिए। लोग चाहें जो भी कहें आप अपने आप पर पूरा विश्वाश रखें और सकरात्मक सोचें और किसी काम को कड़ी मेहनत, अपने ऊपर विश्वाश और सकारात्मक सोच से करते रहें, इसी से हमें सफलता मिलती है।

दोस्तों यदि आपको यह motivational story अच्छी लगी हो तो हमें comment के माध्यम से हमे जरूर बताएं अगर आप और भी motivational story in Hindi को पढ़ना चाहते हो तो, आप बिलकुल सही जगह पर हो, यहां पर आपको काफी सारी motivational stories in hindi का संग्रह मिलेगा जो आपको जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा देगा।

Make MoneyBanking tipsSeoLifestyleTechnology

Leave a comment