windows 10 pro lizenz kaufen office 2019 pro lizenz kaufen office 365 pro lizenz kaufen windows 10 home lizenz kaufen windows 10 enterprise lizenz kaufen office 2019 home and business lizenz kaufen office 2016 pro lizenz kaufen windows 10 education lizenz kaufen visio 2019 lizenz kaufen microsoft project 2019 lizenz kaufen microsoft project 2016 lizenz kaufen visio professional 2016 lizenz kaufen windows server 2012 lizenz kaufen windows server 2016 lizenz kaufen windows server 2019 lizenz kaufen betriebssysteme lizenz kaufen office software lizenz kaufen windows server lizenz kaufen softhier.com instagram ucuz takipçi satın al instagram ucuz beğeni satın al instagram ucuz görüntülenme satın al instagram ucuz otomatik beğeni satın al facebook ucuz beğeni satın al facebook ucuz sayfa beğenisi satın al facebook ucuz takipçi satın al twitter ucuz takipçi satın al twitter ucuz beğeni satın al twitter ucuz retweet satın al youtube ucuz izlenme satın al youtube ucuz abone satın al takipçi hilesi

Startup india yojana kya hai? स्टार्टअप क्या है यह योजना कैसे करती है मदद जानिए

Startup-india-yojana-kya-hai

Startup india yojana नए भारत की नींव रखने का एक मार्ग है। समय जब बदलता है तो केवल खुद नहीं बल्कि लोगों की सोच को भी बदलता है जिसका सबूत उस देश की तरक्की देख पता लगाया जा सकता है। तेज भागती जिंदगी से कदम से कदम मिलाने के लिए हम सभी दौड़ने की कोशिश तो करते हैं लेकिन कई प्रोब्लम को इसी दौरान बुलावा भेज आते हैं। यह प्रोब्लम सिर्फ एक के साथ नहीं बल्कि कइयों के साथ होती है।

इसी प्रोब्लम को business idea से सॉल्व करने वाले को entrepreneurs कहते हैं और इनके द्वारा शुरू किए गए व्यापार को Startup, इन्ही स्टार्टअप कल्चर को विकसित करने के लिए सरकार ने Startup India yojana की शुरुआत की थी।

दोस्तों यह तो आप जानते ही हैं की किसी भी देश की तरक्की का जिम्मा वहां रह रहे लोगों के विकसित होने पर निर्भर करती है। अमेरिका या चीन दुनिया में अपना वर्चस्व कायम रखने में इसीलिए सक्षम हैं क्योंकि इन देशों में startup culture काफी समय से अपना रोल प्ले करता रहा है। अमेरिका के तरफ लोगों का अट्रैक्ट होने का मुख्य कारण वहां की Silicon valley भी है जहां कई startup companies हर साल खुलती है।

दोस्तों लेकिन अब भारत भी इस लिस्ट में पीछे नहीं है ताजा आंकड़ों के मुताबिक भारत के युवा अब job seeker कम बल्कि Job Giver बनने के लिए तैयार हो रहे हैं तभी भारत का स्टार्टअप खोलने में नाम दुनिया में तीसरे पायदान पर आता है। इनमे से कुछ startup companies भारत सरकार के Startup India yojana का फायदा उठा रहे हैं।

इस पोस्ट के जरिए आपको सरकार द्वारा शुरू किए गए स्टार्टअप इंडिया योजना के बारे में जानकारी देंगे। लेकिन उससे पहले आपको Startup kya hota hai और स्टार्टअप कैसे खोलें इसका जवाब भी जानना जरूरी है।

Startup kya hota hai?| स्टार्टअप क्या होता है?

स्टार्टअप बिजनेस के संदर्भ में समझा जाए तो किसी भी व्यवसाय की शुरुआत को स्टार्टअप कहा जाता है। लेकिन यह स्टार्टअप शब्द आधा अर्थ है। स्टार्टअप का सही अर्थ यह है की किसी प्रोब्लम का व्यवसायिक तरीके से सॉल्यूशन निकालना।

नोट:- अगर कोई पहले से ही established company एक नया बिजनेस खोलती है तो उसे स्टार्टअप नहीं कहा जा सकता। चाहे वह नया बिजनेस कोई प्रोब्लम सॉल्व करता हो। स्टार्टअप का अर्थ बिल्कुल जीरो से शुरू करना।

Startup Ka Example (स्टार्टअप का उदहारण)

स्टार्टअप के कई उदाहरणों में से Swiggy एक प्रमुख भारतीय स्टार्टअप कंपनी में गिनी जाती है।

Swiggy के Business idea को समझें तो वह स्टूडेंट्स, बैचलर और वर्किंग प्रोफेशनल (जो पीजी में रहते हैं) उनका प्रॉब्लम का बेहद अच्छा सॉल्यूशन निकाला है। यही लोग swiggy कंपनी के टारगेट ऑडियंस है।

हर व्यक्ति मेहनत रोटी खाने के लिए करता है और वही सस्ती और अच्छी न मिले तो क्या फायदा। Swiggy ने अपने बिजनेस मॉडल से इन वर्ग के लिए फूड डिलीवरी सर्विस स्टार्ट किया जो किसी कारण घर के खाने से वंचित रह जाते हैं और इससे उन्होंने होटल बिजनेस को भी बूस्ट करने में मदद करी।

Startup कैसे शुरू करें?

किसी भी काम की शुरुआत करने के लिए इंसान के अंदर उस काम के प्रति लगन और संकल्प होना जरूरी है। स्टार्टअप की शुरुआत करने के लिए लगन और संकल्प के साथ पेशेंस की भी जरूरत है। स्टार्टअप बिजनेस में रिस्क का फैक्टर काफी ज्यादा हाई रहता है इसीलिए इस तरह का बिजनेस आपके हर कदम पर परीक्षा लेता है लेकिन अगर हम सिस्टेमेटिक तरीके से स्टार्टअप बिजनेस की शुरुआत करें तो कोई भी दिक्कत नहीं आएगी। निम्नलिखित step by step guide की मदद से स्टार्टअप बिजनेस खोलने में सहायता मिल सकती है।

1. प्रोब्लम

मार्केट में वही समान चाहे वह सर्विस के रूप में हो या प्रॉडक्ट के तौर पर तभी बिकता है अगर वह किसी संदर्भ में कस्टमर का कुछ प्रोब्लम सॉल्व कर रहा हो। आसान भाषा में कहा जाए तो जैसे की हम मोबाइल फोन इसीलिए लेते हैं क्योंकि इस छोटे से electronic device में कई तकनीकी सुविधाओं का मिश्रण हमें मिल जाता है और इसको कहीं भी ले जाना आसान है।

कहने का मतलब यह है की हर इंसान को एक अच्छा observer होना चाहिए क्योंकि opportunity कहीं से भी आ सकती है। दुनिया भर में जितने भी स्टार्टअप खुले हैं वह सब किसी न किसी प्रोब्लम के कारण खुले हैं जो कभी उनके फाउंडर ने देखा या खुद फेस किया था।

अपने आस पास ध्यान से देखें कई प्रोब्लम आपको लोगो को खास वर्ग को फेस करते हुए देखेंगे। उस Problem को identify कीजिए।

2. Solution/Business idea

अपने खोजे गए प्रोब्लम पर एक सॉल्यूशन ढूंढे यही सॉल्यूशन आपका स्टार्टअप बिजनेस आइडिया होगा। इसको अपने तक सीमित न रखें बल्कि अपने पैरेंट्स से अपने दोस्तों से शेयर करें ताकि उनका feedback भी आपको प्राप्त हो।

3. टीम का गठन करें

इस स्टेप में अगर आप दाखिल कर गए हैं तो इसका सीधा साधा अर्थ यह है की अब आपने अपने Startup Business को फाइनल टच देने की ठान ली है। अब आपको अपने आइडिया को सही से establish करने के लिए टीम की जरूरत होगी।

दोस्तों कोई भी कार्य में सफलता आप अकेले नहीं पा सकते इसीलिए एक skilled team होना बेहद जरूरी है। जिससे स्टार्टअप का सभी मुख्य काम बराबर मात्रा में बांटे जा सकें। टीम में नियमित पद जरूर बढ़े हों:-

चीफ एक्जीक्यूटिव ऑफिसर:- यह स्टार्टअप कंपनी का लीडर होता है। जो अपने कंपनी के विजन और मिशन के लिए काम करने के लिए सभी को मोटिवेट करता है।

चीफ ग्रोथ ऑफिसर:- यह ऑफिसर कंपनी में बिजनेस प्लान के अंतर्गत कंपनी को ग्रोथ दिलाने में मदद करता है।

मार्केटिंग ऑफिसर:- कंपनी की मार्केटिंग का जिम्मा इनके कंधे पर होता है।

चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर:- कंपनी में तकनीकी सुधार या कोई तकनीकी क्षेत्र को संभालने के लिए इस पद पर किसी स्किल्ड पर्सन का होना जरुरी है।

चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर:- आर्थिक रूप से कंपनी को मजबूत बनाने का जिम्मा यह संभालेंगे।

4. Know your audience

जैसे की कहा जाता है की कोई भी कार्य करने से पहले उस कार्य की पूरी जानकारी होना जरूरी है ठीक वैसे ही आप स्टार्टअप खोलने जा रहे हैं तो आपको अपने कस्टमर के बारे में भी पता होना जरूरी है यानी की उनकी आपके प्रोडक्ट्स से क्या क्या expectations हैं। इसका जायजा आप सर्वे करके कर सकते हैं

5. प्रोटोटाइप बनाएं

एक बेहद प्रचलित कहावत है “जो दिखता है वह बिकता है” यानी की अगर आप मात्र लोगों से अपने आइडिया को शेयर करके अट्रैक्ट करेंगे और उन्हें आपका प्रॉडक्ट/सर्विस लेने के लिए कहेंगे तो हो सकता है आपको रिजेक्शन मिले इसीलिए प्रोटोटाइप बना लेना सबसे फायदेमंद होता है। इससे आपको भी नॉलेज होने में मदद मिलेगी की जो आपने बिजनेस आइडिया सोचा था वह सही रूप ले पाया है या नहीं।

6. फंड जुटाना

स्टार्टअप बिजनेस में काफी पूंजी लगने का रिस्क हमेशा रहता है इसीलिए इसमें फंड मात्र कुछ रूपयों से पूर्ति नहीं हो सकती इसीलिए स्टार्टअप में फंड इकठ्ठा करने के लिए आपको अपने दोस्तों/रिश्तेदारों से मदद लेनी हो सकती है या प्रोफेशनल जरिए से जाएं तो आप venture capital firm से भी फंडिंग जुटा सकते हैं लेकिन आपको उनको अपने प्रोडक्ट/सर्विस से कन्विंस करना होगा ताकि वे आपकी कंपनी पर इन्वेस्ट कर सकें। आज के वक्त में Crowdfunding platform भी स्टार्टअप फंडिंग का एक पर्याप्त साधन हो सकता है।

दोस्तों इससे आपको जानकारी मिल गई होगी की Startup kya hota hai और Startup कैसे शुरू करें, लेकिन अब मुख्य सवाल यह है की केंद्र सरकार द्वारा लॉन्च किए गए Startup India yojana भारत में स्टार्टअप कल्चर बिल्ड करने में कैसे मदद करेगा।

Startup india yojana kya hai

साल 2016 के जनवरी महीने के 16 तारीख को भारत सरकार ने युवाओं को स्टार्टअप बिजनेस करने के लिए आसान पथ बनाने का संकल्प लेते हुए इस Startup India yojana की शुरुआत करी।

भारत में सबसे अधिक युवा जनसंख्या मौजूद हैं जिनके पास टैलेंट है, स्किल है परंतु तरक्की की राह पकड़ने के लिए मार्ग जो की रोजगार और बिजनेस से होकर गुजरता है वह पहले बंद था लेकिन Startup India yojana के तहत सरकार ने इसी बंद रास्ते को अब खोल दिया है।

भारत सरकार देश को विकासशील देशों की सूची में लाने के लिए कई स्कीम लॉन्च करती है जो आपस में इंटरलिंक्ड रहती है। जैसे skill india scheme और Make in India scheme और Startup India yojana आपस में जुड़े हुए हैं।

स्टार्टअप इंडिया योजना का उद्देश्य

  • देश के युवाओं में खुद के बिजनेस खोलने के प्रति उन्हे आकर्षित करना ताकि वह जॉब सीकर नहीं बल्कि जॉब गिवर बने।
  • ज्यादा से ज्यादा रोजगार में बढ़ोतरी लाना
  • आसान लोन मुहैया करवाना छोटे उद्योगों के लिए।

स्टार्टअप इंडिया योजना कैसे स्किल इंडिया और मेक इन इंडिया योजना को करता है सपोर्ट

स्किल इंडिया योजना के तहत युवाओं को स्किल सिखाई जाती है ताकि वे वर्क करके जॉब करने में सक्षम हो जाएं तो वहीं मेक इन इंडिया योजना इस बात पर फोकस करता है की प्रॉडक्ट का निर्माण भारत में हो जिससे भारतीय अर्थव्यवस्था को बूस्ट मिले।

निम्नलिखित आसान भाषा में यह बताया गया है की यह तीनों योजना कैसे एक साथ काम करती है।

  • स्टार्टअप बिजनेस शुरू करने के दौरान वह फंड को काफी सोच समझकर इस्तेमाल करना चाहते हैं ताकि उनका अधिकतम फंड प्रॉडक्ट/सर्विस में लगे यहीं स्किल इंडिया योजना काम आ सकती है। स्टार्टअप फाउंडर मेंबर स्किल इंडिया योजना के अंतर्गत सीख रहे युवाओं में से भी अपने कुछ एम्प्लॉय hire कर सकते हैं।
  • भारत सरकार मेक इन इंडिया योजना को बढ़ावा देने के लिए कई बार इंपोर्ट ड्यूटी को बढ़ा देती है ताकि कंपनी विदेशों से नहीं बल्कि किसी इंडियन कंपनी से ही सामान खरीदें ताकि भारत का पैसा भारत में ही रहें। भारत में कई स्टार्टअप कंपनी इसी तर्ज पर खुली हैं।

स्टार्टअप इंडिया योजना के लाभ

  • नए बिजनेस खुलेंगे जिससे भारत की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।
  • युवाओं को बेहतर रोजगार मिलेगा जिससे वह भी अपनी लाइफस्टाइल में इजाफा कर पाएंगे।
  • इस योजना के अंतर्गत खुलने वाली कंपनियों को 3 साल तक के लिए टैक्स छूट मिलती है।
Startup india yojana में Apply कैसे करें?

Company की age

स्टार्टअप कंपनी के लिए आवेदन करने के लिए यह ध्यान रखें आपकी कंपनी का अस्तित्व 7 साल से अधिक न हुए हो लेकिन अगर आपकी कंपनी ऑर्गेनिक एग्रीकल्चर स्टार्टअप में प्रवेश कर रही है तो कंपनी की उम्र 10 साल तक की मान्य है।

कंपनी के टाइप्स

एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी या एक रजिस्टर्ड फर्म ही स्टार्टअप में अप्लाई कर सकती है।

साल का टर्नओवर

किसी भी Financial Year में टर्नओवर 100 करोड रुपए से अधिक है तो वह कंपनी स्टार्टअप योजना में अप्लाई नहीं कर सकती है।

दोस्तों यह थी स्टार्टअप इंडिया योजना के बारे में पूरी जानकारी उम्मीद है इस पोस्ट से आपको स्टार्टअप खोलने के बारे में इच्छा जागी होगी अगर ऐसा है तो घबराइए नहीं अपने मंजिल की ओर बढ़ें और देश को विकासशील करने में अपना योगदान अवश्य दें। स्टार्टअप से संबंधित अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक सरकारी वेबसाइट https://www.startupindia.gov.in/ पर जाएं।
धन्यवाद

About Author:-

मेरा नाम अजय गर्ग है, मैं अपनी वेबसाइट aslisatya. in पर हिंदी में भारत और दुनिया में मौजूद हर विषय में छुपे हुए Amazing facts को उजागर करता हूँ।

Leave a comment

Porno Gratuit Porno Français Adulte XXX Brazzers Porn College Girls Film érotique Hard Porn Inceste Famille Porno Japonais Asiatique Jeunes Filles Porno Latin Brown Femmes Porn Mobile Porn Russe Porn Stars Porno Arabe Turc Porno caché Porno de qualité HD Porno Gratuit Porno Mature de Milf Porno Noir Regarder Porn Relations Lesbiennes Secrétaire de Bureau Porn Sexe en Groupe Sexe Gay Sexe Oral Vidéo Amateur Vidéo Anal